नए ब्लॉगर के लिए 4 जरुरी विचार

Read this article in English

ब्लॉगिंग मज़ेदार हो सकता है, लेकिन यह कुछ हद तक तनावपूर्ण भी हो सकता है यदि आपको नहीं पता कि कैसे आरंभ किया जाए या पता न चले कि आपका जो ब्लॉग चल रहा है उसे और बेहतर और सफल कैसे बनाया जाये | यह आलेख किसी भी प्रकार का ब्लॉग बनाने और ग्राउंड अप से दर्शकों को विकसित करने के बारे में विस्तृत मार्गदर्शिका नहीं है। आप ब्लॉगिंग में कौन से चरण पर है उसपर आधारित कुछ विचारों को उत्तेजित करने वाले पॉइंट्स के साथ यह एक संक्षिप्त अवलोकन है। तो, आइये आगे बढ़ते हैं |

1. ब्लॉग का टॉपिक

आपके ब्लॉग का टॉपिक या तो ऐसा कुछ होगा जिसमे स्वाभाविक रूप से आपकी रुचि है और उसके बारे में आप अच्छी तरह से सब जानते हैं या यह कुछ ऐसा होगा जिसके बारे में आप पैसे बनाने के एकमात्र इरादे से जानबूझकर शोध करते हैं। जिस भी मार्ग पर आप जाने का इरादा रखते हैं, यह जानना महत्वपूर्ण है कि आप अंततः क्या हासिल करना चाहते हैं। किसी ऐसे विषय पर एक ब्लॉग बनाना जिसमें आपका इंटरेस्ट है, वस्तुतः वास्तविकता में करना सही बात है, पर यह बाद में निराशा का कारण बन सकता है – जब तक कि आप एक कोई बेहद आकर्षक टॉपिक में जानकार न हों। अपने टॉपिक को बुद्धिमानी से और अपने ब्लॉग के विशिष्ट लक्ष्यों के आधार पर चुनें।

2. डोमेन नाम (ब्लॉग का नाम)

सही (या गलत) डोमेन आपकी साइट को बना या तोड़ सकता है। सौभाग्य से, इन दिनों डोमेन नाम सस्ते हैं और ऐसे कई एक्सटेंशन और विकल्प उपलब्ध हैं जिनमें आपको निश्चित रूप से कुछ ऐसा मिल जाता है जो आपके एजेंडे के अनुरूप है। यदि संभव हो तो इस मोर्चे पर मेरी सलाह है कि .com के लिए जाएं। नए फैशनेबुल एक्सटेंशन मेरी राय में एक तरकीब से ज्यादा कुछ नहीं हैं और अभी के लिए, ज्यादा विश्वसनीय भी नहीं हैं। ऐसा नहीं है कि उनकि भविष्य की योजनाओं में कोई जगह नहीं है लेकिन अभी के लिए, .com ही सबसे सही है।

नाम के संदर्भ में, आपके पास दो विकल्प हैं। आप अपने ब्लॉग के लिए कुछ ब्रांड योग्य या कुछ वर्णनात्मक चुन सकते हैं। यदि आप रचनात्मक प्रकार हैं तो आप इन दोनों को जोड़ सकते हैं। कुछ छोटा, यादगार और आसानी से लिखा जाने वाला चुनें। मेरी प्राथमिकता कुछ ऐसा चुनने में ही होगी जो मौखिक प्रचार के साथ-साथ ऑनलाइन के माध्यम से प्रचारित किया जा सके |

3. ब्लॉग का प्रमोशन (प्रचार)

प्रचार करना एक कठिन कार्य साबित हो सकता है। अगर गलत तरह से किया गया तो आप अपना बहुत समय और पैसा बर्बाद कर देंगे, लेकिन यह सही तरीके से किया जाये तो उसका फल बहुत ही अच्छा निकलेगा| प्रमोशन की बहुत सारी प्रचारक तकनीकें हैं और इसके बारे में काफी लेख भी लिखे जा चुके हैं। अभी के लिए, मैं बस एक संक्षिप्त अवलोकन दे रहा हूँ।

सबसे पहले, अपने सोशल प्रोफाइल को अनदेखा न करें। ऐसा करने का विकल्प आप इसलिए चुन सकते हैं क्योंकि आपको शायद ऐसा लगता है कि कोई भी यह नहीं सुनना चाहता है कि आप क्या कह रहे हैं। शायद वे नहीं करते हैं, लेकिन यह आपके ब्लॉग का प्रचार करने के लिए एक शानदार तरीका है। अन्य बहुचर्चित ब्लॉगों या व्यक्तियों के साथ बातचीत करें जो आपके दिए गए क्षेत्र में विख्यात हैं| ऐसा करने से आप खुद के दम पर अपने फोल्लोवेर्स और रीडरशिप को बढ़ा पाएंगे।

आप अतिथि पोस्टिंग पर भी विचार करना चाहेंगे। संक्षेप में, अपने क्षेत्र के भीतर ब्लॉग ढूंढें और उनके ब्लॉग के लिए एक लेख लिखने की पेशकश करें। बदले में, वे आपको अपने ब्लॉग के लिए एक लेखक लिंक देंगे | यह दो कारणों से बहुत अच्छा है। सबसे पहले यह आपकी वेबसाइट पर जाने के लिए एक लिंक उत्पन्न करता है और दूसरी बात यह है कि यदि आप जिस ब्लॉग पर पोस्ट कर रहे हैं, उसके पास अगर काफी दर्शक है और आपका लेख “अच्छा” है तो संभावना है कि लोग इसके कारण आपके ब्लॉग पर क्लिक करेंगे। एक बड़े ब्लॉग पर एक साधारण अतिथि पोस्ट आपके व्यक्तिगत ब्लॉग के सैकड़ों नए पाठकों का नेतृत्व कर सकता है।

4. मुद्रीकरण (Monetisation)

यदि, आप उन बेहद भाग्यशाली व्यक्तियों में से एक हैं जिनके पास पैसे की कमी नहीं है तो यह अनुभाग शायद आपके लिए नहीं है। यदि, दूसरी तरफ आप उन लोगों में से एक हैं जिन्होंने ब्लॉग को आजीविका के इरादे से विकसित किया है, तो शायद आप जानना चाहते हैं कि यह कैसे करना है।

आम तौर पर, 3 विकल्प होते हैं जिनमें ब्लॉग से पैसे बनाने के विभिन्न अवसर होते हैं।

बैनर विज्ञापन (Banner Ads) – मीडिया का यह रूप कुछ हद तक पक्षपात से बाहर हो रहा है लेकिन वे अभी भी काफी लोकप्रिय हैं। वे एक साइट को सक्रिय दर्शाते हैं भले ही समय के साथ उसके क्लिक थ्रू रेट्स गिरते जा रहे हैं जिसका प्रमुख कारण है बहुचर्चित “बैनर ब्लाइंडनेस”| बैनर कुछ भी हो सकते हैं जिससे आप कुछ पैसे अर्जित कर सकते हैं| ऐसा तब मुमकिन है जब भी कोई उनपे क्लिक करके एफिलिएट एंगल पर जाए जहाँ आपने किसी प्रकार के प्रोडक्ट या सर्विसेज का विज्ञापन कर रखा हो| यदि वो विजिटर उसे खरीदता है तो आपको उससे कमीशन मिल सकता है |

एफिलिएट लिंक (Affiliate Links) – एफिलिएट लिंक बैनर या टेक्स्ट लिंक या किसी अन्य तरीके से दर्शाये जा सकते हैं, जिस पर आप किसी विज़िटर को किसी चीज़ को खरीदने के लिए किसी साइट पर भेज सकते हैं। यदि आपके पास भरी मात्रा में मजूद दर्शकों के साथ एक ब्लॉग है तो अन्य लोगों के उत्पादों और सेवाओं को बेचके पैसा बनाया जा सकता है। विशेष रूप से यदि आप सही उत्पाद या सेवा को बढ़ावा देने के लिए चुनते हैं|

स्पॉन्सर्ड पोस्ट सेल्स (Sponsored Posts) – ब्लॉगिंग बिरादरी के ऊपरी भाग में अमूमतन इसे पसंद नहीं किया जाता है लेकिन सही ढंग से किया जाये तो यह एक ठोस आय स्रोत बन सकता है | स्पॉन्सर्ड पोस्ट सेल्स सचमुच सिर्फ आपके ब्लॉग पर किसी और की पोस्ट डालने को कहते हैं जिसमें उनकी वेबसाइट का एक लिंक शामिल होता है। इसे अतिथि पोस्ट्स के साथ कंफ्यूज न करें जो कि पूरी तरह से कुछ अलग चीज़ है।

सारांश

अब हम इस लेख के अंत पर आ गए हैं। उम्मीद है कि ब्लॉगिंग, प्रमोशन और मुद्रीकरण के बारे में आपको काफ़ी जानकारी मिल गयी होगी| जाहिर है, बहुत कुछ कवर करने के लिए और इनमें से प्रत्येक अनुभाग का विस्तार किया जा सकता है, लेकिन अभी के लिए बस इतना ही बहुत है। आपके ब्लॉगिंग प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।

Google Pixel

Related articles

InsideTechno
InsideTechnohttps://www.insidetechno.com/
InsideTechno is dedicated to providing quality information about the latest tech trends, gadgets, and cool stuff. We provide honest reviews and guides to help our readers choose the best product for their needs. Our goal is to become an important source of information for everyone who wants to get the most out of the technologies we live with every day.
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments